Best poetry and article on Mob lynching || Ek bund giri thhi dharti par fir aasman kyu laal hai

एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यू लाल है



दोस्तों यह एक बहुत ही सुन्दर कविता और लेख मोब ल्यन्चिंग जैसे गंभीर आपराध को उजागर करते हुई लिखी गयी है जिसका सीर्सक है "एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यू लाल है "



मोब ल्यन्चिंग का अर्थ होता है किसी अज्ञात भीड़ के द्वारा किसी को पीटना या पिट-पिट कर हत्या करना | मोब ल्यन्चिंग एक घिनोनी और सर्मनाक अपराध है | जो हमारे समाज में स्थापित है, यह एक काफी निर्दयता पूर्वक होने वाला एक संगीन जुर्म है | जिसमे किसी को सक के आधार पे चाहे वो बिलकुल बेबुनियाद हो उसे वही एक आपराधिक भीड़ के द्वारा निर्मम तरीके से पिटा जाता है |, जिसमे कई बार जान भी चली जाती है| और वो अपराधिक भीड़, भीड़ में बचकर सजा से भी कई बार अछूत रह जाती है जिनसे उनका हौसला कम नही होता न उनको इस बात का पश्चाताप होता है|, जो की इस से बुरा और कुछ नही हो सकता | वैसे तो ल्यन्चिंग के कई कारण हो सकते है परन्तु मुख्य रूप से ये किसी और सामाजिक बुराइयों के कारण होता है जैसे की जातिगत भेद-भाव या धार्मिक भेद-भाव जो की खुद ही एक अभिशाप की तरह है | इन सब के खिलाफ बहुत एतराज भी जताई जाती है, कुछ कड़े कानून भी बनाये गये है जैसे की आईपीसी की धारा 153 A,इसके अलावा आईपीसी की धारा 34, 147, 148 और 149 के तहत कार्रवाई की जा सकती है| फिर भी ये जुर्म रुक नही रहा दोस्तों इसका अर्थ है की इसे कोई कानून नही रोक सकती, ये सिर्फ हमारे बौधिक समझ से ही रोका जा सकता है, और ऐसे घिनोने अपराध से बचा जा सकता है |

दोस्तों यह सोच कर भी आत्मा कॉप जाती है की जो लोग मारे जाते है उनके परिजनों पर क्या बीतती होगी |, उनके मन में कितना नफरत पैदा होता होगा जिससे हो सकता है कोई और संगीन जुर्म हो जाये | वे कैसे वापस उसी समाज में रह पाते होंगे जिनके परिवार का हत्यारा उसी समाज में हो | बस एक बार इस दर्द को महशुस कर के देखिये आप ऐसे घिनोनी पाप करने से बच जायंगे | दोस्तों इसी अनहोनी के सन्दर्भ में मैंने एक बहुत ही छोटी सी कविता लिखी है जिसका सीर्सक है " एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यों लाल है " जिसे आपलोग विडियो फॉर्मेट में जरुर देखिएगा जिससे आप महसूस कर सके |
Mob lynching Poetry squad

             एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यों लाल है



एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यू लाल है 
इस भीड़ की जवाब क्या यह भीड़ ही सवाल है 
एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यू लाल है 
इस भीड़ की जवाब क्या यह भीड़ ही सवाल है 
कोई पूछे चंद फकीरों से इनकी क्या मज़ाल है 
सड़क पे इंसाफ नही होते साहब 
न्याय बताना अनपढो को ये क़त्ल बेमिशाल है    
एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यू लाल है 
राम का बंदा मरा यहाँ या रहीम की संतान है -2 
हिन्दू है या मुस्लिमान क्या उसकी पहचान है 
जब लहू छुआ तो पता चला ये तो बस इन्सान हैं 
एक इन्सान यहाँ पर मरा नही पूरी इंसानियत बदनाम है 
अब ऐसे धर्म रक्षको पे उस रब को भी मलाल है 
एक बूंद गिरी थी धरती पे फिर आसमान क्यू लाल है -2 

लेखक - धीरज धीरू 

You can also watch this poetry on Youtube.
For watch click here.
guys must watch this video



Now enjoy this poetry in English & Hinglish

        Ek bund giri thhi dharti par fir aasman kyu laal hai


Mob lynching means beating someone by an unknown mob. Mob lynching is a felony and standard crime. Which is enshrined in our society, it is a cruel crime to be very cruel. In which, on the basis of someone's whim, which maybe absolutely baseless, he is beaten mercilessly by a criminal mob, in which many times his life is lost. And that criminal crowd, after escaping from the crowd, are often untouchable even by punishment, which does not reduce their spirits, nor do they regret it, which cannot be worse than this. Although there can be many reasons for lynching, but mainly due to some other social evils such as caste discrimination or religious discrimination, which itself is like a curse. There is a lot of objection against all this, some stringent laws have also been made such as Section 153A of the IPC, in addition action can be taken under sections 34, 147, 148 and 149 of the IPC. Yet this crime is not stopping, friends, it means that no law can stop it, it can only be stopped by our intellectual understanding, and such abusive crime can be avoided.

Friends, even after thinking that the soul is angry, what will happen to the families of those who are killed, how much hatred will arise in their minds, which may lead to some other serious crime. How would they be able to stay back in the same society, whose family is the killer in the same society? Just feel this pain once and see that you will be saved from committing such a hideous sin. Friends, I have written a very short poem with reference to this untoward, which is  "Ek bund giri thhi dharti par fir aasman kyu laal hai ", which you will definitely see in the video format that you can feel.


 Ek bund giri thhi dharti par fir aasman kyu laal hai


ek boond giri thi dharati pe phir aasmaan kyu laal hai 
is bheed ki jawaab kya yah bhid hi sawaal hai 
ek boond giri thi dharati pe phir aasmaan kyu laal hai 
is bheed ki jawaab kya yah bhid hi sawaal hai 
koi puchhe chand phakiron se inaki kya mazaal hai 
sadak pe insaaf nahi hote saahab 
nyaay batana anapadho ko ye qatl bemishaal hai    
ek boond giri thi dharati pe phir aasmaan kyu laal hai 
ram ka banda mara yahaan ya raheem ki santaan hai -2 
hindu hai ya muslimaan kya usaki pehchan hai 
jab lahu chhua to pata chala ye to bas insaan hain 
ek insaan yahan par mara nahi puri insaniyat badanaam hai 
ab aise dharm rakshako pe us rab ko bhi malaal hai 
ek boond giri thi dharati pe phir aasmaan kyu laal hai 


written by Dhiraj Dhiru


 इस पोस्ट को भी जरुर पढ़े 


          Also, read this post

 गरीबी अवस्था है पाप नही


दोस्तों एक बड़े ही मशहुर व्यक्ति और बिसनेस मैन बिल गेट्स ने अंग्रेजी में कहा है "if you born poor it's not your fault, but if you die poor it's your fault." जिसका अर्थ है की आप गरीबी में जन्म लेते है तो ये आपकी गलती नही है, परन्तु आप गरीबी में ही मर जाते है तो ये आपकी गलती है| इस बात के बारे में आपके क्या विचार है ? मुझे तो लगता है ये बड़े निरर्थक विचार है इसे बिना सोचे समझे बिना गरीबी के बारे में जाने बस कह दिया गया है | ये बात मै कोई हवा में नही कह रहा आप अपने आपको मुझे गहराइयों ले जाने का इजाजत दे मै ये बात आपके समछ सिद्ध कर दूंगा |
to read full article click here
इस पोस्ट को पूरा पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे 



Very very Thankyou to read this article. You can also subscribe us on Youtube, Search there Poetry Squad or simple click on it.

And anyone can write a post on this website if You have to write go to Contact us. From there you can contact us. And You can also recite Your poem on Youtube by contacting us.
T&C Apply


Must Drop Your Comment.




Poetry Squad is a platform that provide you Poetry,Story,Dramas & Articles in English and Hindi language.
Poetrysquad एक ऐसा प्लेटफार्म  है  जो आपको कविताये , कहानियाँ, नाटक,और लेख हिन्दी और अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध करता है|

No comments

If you have any suggestion or you want to tell something then write

Theme images by enjoynz. Powered by Blogger.